Educalingo cookies are used to personalize ads and get web traffic statistics. We also share information about the use of the site with our social media, advertising and analytics partners.
Got it
Search

Meaning of "क्रोधाग्नि" in the Marathi dictionary

Dictionary
DICTIONARY
section

PRONUNCIATION OF क्रोधाग्नि IN MARATHI


क्रोधाग्नि  [krodhagni]
facebooktwitterpinterestwhatsapp

WHAT DOES क्रोधाग्नि MEAN IN MARATHI?

Click to see the original definition of «क्रोधाग्नि» in the Marathi dictionary.
Click to see the automatic translation of the definition in English.

Definition of क्रोधाग्नि in the Marathi dictionary

Cradle-Pu Fierce rage; Koppal [No.] Speak-bitter; Speaklessly क्रोधाग्नि—पु. भयंकर संताप; कोपानल. [सं.] ॰शिखा टाकणें-संतापानें बोलणें; बेफामपणें बोलणें.

Click to see the original definition of «क्रोधाग्नि» in the Marathi dictionary.
Click to see the automatic translation of the definition in English.

MARATHI WORDS THAT RHYME WITH क्रोधाग्नि


MARATHI WORDS THAT BEGIN LIKE क्रोधाग्नि

क्रेतव्य
क्रेता
क्रेन
क्रेप
क्रॉप
क्रोटन
क्रो
क्रोडीकरण
क्रोडों
क्रोध
क्रोधणें
क्रोधा
क्रोधायमान
क्रोधिष्ठ
क्रोमाइट
क्रो
क्रोष्ट
क्रौंच
क्रौन
क्रौर्य

MARATHI WORDS THAT END LIKE क्रोधाग्नि

अजुनि
अनुध्वनि
अरत्नि
अवनि
अशनि
आजुनि
आडौनि
आवर्तप्रतिध्वनि
उपध्वनि
एकयोनि
नि
गद्गद. गद्गदध्वनि
चेनि
जवनि
तटिनि
ध्वनि
नि
नोहोनि
पासोनि
वह्नि

Synonyms and antonyms of क्रोधाग्नि in the Marathi dictionary of synonyms

SYNONYMS

Translation of «क्रोधाग्नि» into 25 languages

TRANSLATOR
online translator

TRANSLATION OF क्रोधाग्नि

Find out the translation of क्रोधाग्नि to 25 languages with our Marathi multilingual translator.
The translations of क्रोधाग्नि from Marathi to other languages presented in this section have been obtained through automatic statistical translation; where the essential translation unit is the word «क्रोधाग्नि» in Marathi.

Translator Marathi - Chinese

Fierily
1,325 millions of speakers

Translator Marathi - Spanish

ardientemente
570 millions of speakers

Translator Marathi - English

fierily
510 millions of speakers

Translator Marathi - Hindi

Fierily
380 millions of speakers
ar

Translator Marathi - Arabic

Fierily
280 millions of speakers

Translator Marathi - Russian

огненно
278 millions of speakers

Translator Marathi - Portuguese

Fierily
270 millions of speakers

Translator Marathi - Bengali

fierily
260 millions of speakers

Translator Marathi - French

ardemment
220 millions of speakers

Translator Marathi - Malay

fierily
190 millions of speakers

Translator Marathi - German

feurig
180 millions of speakers

Translator Marathi - Japanese

火のように
130 millions of speakers

Translator Marathi - Korean

Fierily
85 millions of speakers

Translator Marathi - Javanese

fierily
85 millions of speakers
vi

Translator Marathi - Vietnamese

Fierily
80 millions of speakers

Translator Marathi - Tamil

fierily
75 millions of speakers

Marathi

क्रोधाग्नि
75 millions of speakers

Translator Marathi - Turkish

fierily
70 millions of speakers

Translator Marathi - Italian

fierily
65 millions of speakers

Translator Marathi - Polish

Fierily
50 millions of speakers

Translator Marathi - Ukrainian

вогненно
40 millions of speakers

Translator Marathi - Romanian

Fierily
30 millions of speakers
el

Translator Marathi - Greek

Fierily
15 millions of speakers
af

Translator Marathi - Afrikaans

Fierily
14 millions of speakers
sv

Translator Marathi - Swedish

Fierily
10 millions of speakers
no

Translator Marathi - Norwegian

Fierily
5 millions of speakers

Trends of use of क्रोधाग्नि

TRENDS

TENDENCIES OF USE OF THE TERM «क्रोधाग्नि»

0
100%
The map shown above gives the frequency of use of the term «क्रोधाग्नि» in the different countries.

Examples of use in the Marathi literature, quotes and news about क्रोधाग्नि

EXAMPLES

10 MARATHI BOOKS RELATING TO «क्रोधाग्नि»

Discover the use of क्रोधाग्नि in the following bibliographical selection. Books relating to क्रोधाग्नि and brief extracts from same to provide context of its use in Marathi literature.
1
Saṃskr̥ta-śikṣaṇa-saraṇī
शायद उस योगी के दर्शन से इसकी क्रोधाग्नि शति हो जाये है मनो तस्य योगिन: दर्शन अस्य क्रोधाग्नि: शाम्येत् : ए. तुम्हारी क्रोधाग्नि शांत मत हो, उस कोन में इन पापियों को जल.
Rāma Śāstrī, 1998
2
Konark
पृथ्वी और आकाश के संघर्ष की बात फिर सोचना विशु 1 उत्कल के प८शबीपति की क्रोधाग्नि झेलने का भी कोई प्रबन्ध किया है ? महाराज श्रीनरोंसेहदेव की क्रोधाग्नि ? उसे तो करुणा की ...
Mohan Rakesh, 2004
3
Dhamam Sharanam - पृष्ठ 67
उनकी क्रोधाग्नि जब एक बार भडक उठेगी, तो उसे शति कर सकना बरिन हो जाएगा । यह सारा देश उनकी क्रोधाग्नि में भस्म हो जाएगा । हैं है 'ते फिर आपका क्या आदेश है, यर ? हैं, सृभागीन ने पुछता ...
Suresh Kant, 2003
4
Lokahitavādī samagra vāṅmaya - व्हॉल्यूम 1
चांगले आणि दुष्ट यांचा क्रोधाग्नि एकमेकांशीं विरुद्ध आहे. चांगल्या मनुष्याचा क्रोधाग्नि स्नेहानें (तेलानें!) शांत होतो आणि दुसन्याचा वारीत असतां (पाण्यानें!) अधिक ...
Lokahitavādī, ‎Govardhana Pārīkha, ‎Indumatī Pārīkha, 1988
5
Carakasaṃhitā. Bhagavatāgniveśena praṇītā, ... - व्हॉल्यूम 2
तदनन्तर प्रभु रुद्र ने क्रोधाग्नि से तपा हुआ बाण यश के नाश के लिये फेंका, जिससे वह यश नष्ट हो गया । देवता दु:खित हुए॥ प्राणी दाह और व्यथा से दिग्भ्रान्त हो गये और हाहाकार मच गयT ...
Caraka, ‎Agniveśa, ‎Jayadeva Vidyālaṅkāra, 1963
6
Itihāsa ke svara: - पृष्ठ 82
इसलिए मुझे तुम पर दया आती है : मैं नहीं चाहता कि भाइयों की क्रोधाग्नि में तुम भाम हो जाओं : अशोक : मैं अम हो जाऊँ ? असम्भव । क्रोधाग्नि में कोथ करने वाला व्यक्ति ही भस्म होता ...
Rāmakumāra Varmā, 1969
7
Badarīdhāma ke bhikhamaṅge
ना अपूर्व: कोपुवि कोपाजि: सज्जनस्य खलस्य च है एकम आयति स्नेहाद्वधेतेपुन्याय वारिस: ।।३७१: मजन और खल की क्रोधाग्नि अदभुत होती है । सज्जन की क्रोधाग्नि स्नेह से शान्त होती है ...
Kamalākānta Dvivedī, 1991
8
Mudrārākshasa nāṭaka
... को जलाकर राख कर दिया जिस पर से नगर निवासी-रूपी पक्षीगण अपना बसेरा छोड़कर उड़ गए थे । और अब जलाने के लिए कुछ न रह जाने पर मेरी यह क्रोधाग्नि शान्त है, कुछ इस कारण से नहीं, कि अब वह ...
Viśākhadatta, ‎Jayaśaṅkara Tripāṭhī, 1970
9
Hindī samāsa-racanā kā adhyayana:
... पेटभर, मन-हीं-मन, हाथोंहाथ, सटासट, खायापीया, ब-फटकार-मेरातुम्हारा : विशलेषण 11.13]1.111.-2 (देश-निष्कासन, हाथी-लत, मकान-मालिक, सताक्षर, क्रोधाग्नि, दिया-बली, रामकहानी, ...
Rameśacandra Jaina, 1964
10
Uttararamacaritam/ Mahakavibhavabhutipranitam
पितरों के कहने पर उसने अपनी वह क्रोधाग्नि समुद्र में डाल दी । समुद्र में वह अग्नि वडवा ( घोडी ) के आकार को धारण कर सागर के जल को भस्म करती रहती है । वस्तुत: सागर के भीतर बहते वाली उष्ण ...
Bhavabhuti, 1990

10 NEWS ITEMS WHICH INCLUDE THE TERM «क्रोधाग्नि»

Find out what the national and international press are talking about and how the term क्रोधाग्नि is used in the context of the following news items.
1
कालिख़बाज़ अब क्या शरद पवार को भी धर-दबोचेंगे?
दुर्वासा भी अपनी क्रोधाग्नि की वजह से हर बार अपने तप की ताक़त का क्षरण झेलते थे. मेरा पैग़ाम मोहब्बत है जहाँ तक पहुँचे. सोचता हूँ ये कट्टरवाद (Hardcore) क्या है? उदारवाद (Liberalism) क्या है? सहिष्णुता (Tolerance) क्या है? क्या ये मुमकिन है कि कोई ... «ABP News, Oct 15»
2
पीओके में पाक विरोध के स्वर
हाल ही में पाक-अधिकृत कश्मीर का इलाका कश्मीरियों के गुस्से से धधक उठा है और कश्मीरियों की क्रोधाग्नि को पाक हुकूमत के जुल्म ने और अधिक प्रज्ज्वलित कर दिया है। यूं तो वर्षों से पाक अधिकृत कश्मीर के बाशिंदों की दुर्दशा के विषय में ... «haribhoomi, Oct 15»
3
इस राजा के 60 हजार पुत्र हो गए थे भस्म, मां गंगा ने …
घोड़े की तलाश में निकले सगर के 60 हजार पुत्रों ने कपिल मुनि की ध्यान समाधि को भंग किया तो मुनि ने क्रोधाग्नि से सभी को भस्म कर दिया। इन राजकुमारों की मुक्ति का एक ही उपाय बताया गया कि उनके पार्थिव अवशेषों को स्वर्ग की नदी गंगा का ... «Rajasthan Patrika, May 15»
4
सफलता का सबसे प्रमुख अवरोधक क्रोध है
क्रोध मनुष्य को असफलता के पास तो पहुंचाता ही है, साथ ही उन लोगों को भी आहत करता है जो उसकी क्रोधाग्नि की चपेट में आते हैं। क्रोधी व्यक्ति का मानसिक संतुलन कभी ठीक नहीं रहता। क्रोध करने वालों से लोग दूर भागने लगते हैं। उनसे बात करने में ... «दैनिक जागरण, May 15»
5
होलिका दहन की रात्रि का महत्व
पुराणों के अनुसार ऐसी भी मान्यता है कि जब भगवान शंकर ने अपनी क्रोधाग्नि से कामदेव को भस्म कर दिया था, तभी से होली का प्रचलन हुआ। होलिका दहन की रात्रि को तंत्र साधना की दृष्टि से हमारे शास्त्रों में महत्वपूर्ण माना गया है | और यह ... «Ajmernama, Mar 15»
6
होली की इन प्राचीन मान्यताओं से आप भी हैं अनजान!
पुराणों के मुताबिक ऐसी भी मान्यता है कि जब भगवान शंकर ने अपनी क्रोधाग्नि से कामदेव को भस्म कर दिया था। तभी से इसका प्रचलन हुआ। इस दिन आम मंजरी तथा चंदन को मिलाकर खाने का बडा महत्व है। भविष्य पुराण के अनुसार नारदजी ने महाराज युधिष्ठर ... «Rajasthan Patrika, Mar 15»
7
जानिए: क्यों और कैसे हुआ काशी के कोतवाल कालभैरव …
कालभैरव को साक्षात भगवान शिव का दूसरा रूप माना जाता है. इस दूसरे रूप को विग्रह रूप के नाम से भी जाना जाता है. शिव की क्रोधाग्नि का विग्रह रूप माने जाने वाले कालभैरव का अवतरण मार्गशीर्ष कृष्णपक्ष की अष्टमी को हुआ था. ऐसा माना जाता है ... «Shri News, Dec 14»
8
यह है भगवान शिव के 19 अवतार
तब भगवान शिव ने शरभावतार लिया और वे इसी रूप में भगवान नृसिंह के पास पहुंचे तथा उनकी स्तुति की, लेकिन नृसिंह की क्रोधाग्नि शांत नहीं हुई। यह देखकर शरभ रूपी भगवान शिव अपनी पूंछ में नृसिंह को लपेटकर ले उड़े। तब कहीं जाकर भगवान नृसिंह की ... «दैनिक जागरण, Nov 14»
9
ब्रह्मा जी की एक गलती से आज के दिन पैदा हुए कालभैरव
शिव की क्रोधाग्नि का विग्रह रूप कहे जाने वाले कालभैरव का अवतरण मार्गशीर्ष कृष्णपक्ष की अष्टमी को हुआ। इनकी पूजा से घर में नकारत्मक ऊर्जा, जादू-टोने, भूत-प्रेत आदि का भय नहीं रहता। शिव पुराण में कहा है कि भैरव परमात्मा शंकर के ही रूप हैं। «अमर उजाला, Nov 14»
10
जानें भगवान शिव का तीसरा नेत्र पहली बार कब और …
उलटा कामदेव उनकी क्रोधाग्नि से जल कर भस्म हो गए। मान्यता है कि भगवान शिव ने अपना तीसरा नेत्र पहली बार फाल्गुन पूर्णिमा यानी होली के दिन खोला था। शिव के क्रोध का वेग उस समय इतना बढ़ा हुआ था की संपूर्ण लोक उसमें जलने लगे। किसी में इतनी ... «पंजाब केसरी, Oct 14»

REFERENCE
« EDUCALINGO. क्रोधाग्नि [online]. Available <https://educalingo.com/en/dic-mr/krodhagni>. Jul 2020 ».
mr
Marathi dictionary
Discover all that is hidden in the words on